कही पर जनता कर रही खुद श्रमदान तो कही गंदगी में जीने को है बेहाल ।

कही पर जनता कर रही खुद श्रमदान तो कही गंदगी में जीने को है बेहाल 

कही पर जनता कर रही खुद श्रमदान तो कही गंदगी में जीने को है बेहाल ।

शेखपुरा(धीरज सिन्हा की रिपोर्ट) --मामला है शेखपूरा जिले के बरबीघा प्रखण्ड क्षेत्र का जहाँ एक गांव के लोग प्रशासन के उदासीन रवैये के कारण अब नहर की सफाई का कमान खुद सम्भाल लिया है दरसल इस गांव के ग्रामीणों ने मिलकर सामूहिक रूप से चंदा कर राशि इकट्ठा किया और नहर की सफाई शुरू कर दी ग्रामीणों ने बताया है की नहर में वर्षों से सफाई नही होने की बजह से नहर का पानी हल्की सी वारिश होने के बाद सड़को पर आ जाता है और गंदगी भरा रहता है कई बार इस सम्बंध में बरबीघा प्रशासन को भी सूचना दिया गया लेकिन अब तक कोई पहल नही हुआ इस बजह से ग्रामीणों ने खुद श्रमदान कर लाखो की लागत से नहर की सफाई कराना शुरू कर दिया है,वही दूसरा मामला है बरबीघा के नर्सरी मुहल्ला का पूरा महादलितों का वसेरा है लेकिन इस मुहल्ले के तरफ नगर प्रशासन भी देखना जरूरी नही समझता ग्रामीणों का आरोप है कि चुनाव के दौरान वोट मांगने तो नेता इस मुहल्ले में जरूर आते है और बड़े बड़े दावे भी करते है लेकिन जब मुहल्ले में हल्की बारिश होती है तो पूरा महादलितों का इलाका पानी-पानी हो जाता है।ऐसे में जरूरत है कि जिला प्रशासन मामले को संज्ञान में ले और धरातल पर उतर कर स्वक्ष भारत बनाने की दिशा में काम करे सिर्फ कागजों में नही जिससे जनता को स्वच्छता का लाभ मिल सके ।


Click Here To See More

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0