भूखमरी या बीमारी,आखिर रोहित की हो ही गयी मौत, किसकी कहे लापरवाही ??

भूखमरी या बीमारी,आखिर रोहित की हो ही गयी मौत, किसकी कहे लापरवाही ??

शेखपुरा (धीरज सिन्हा की रिपोर्ट) -सदर थाना क्षेत्र के जमालपुर मुहल्ले में कई महीनों से रह रहे रोहित मांझी की मौत गुरुवार को भूख से होने की बात कही जा रही है।

स्थानीय लोगों ने बताया है कि यह अपने परिवार के 6 लोगो का अकेले कमाकर भरण-पोषण करते थे।लेकिन पिछले कुछ दिनों से इनकी तबीयत बिगड़ी हुई थी।और जमालपुर के सामूहिक लंगर में यह कुछ दिनों तक भोजन किया । लेकिन लंगर बन्द होने के बाद लौकड़ाऊन कि बजह से अपने परिवार का भरण-पोषण किसी तरह से कर पाने में सक्षम नही  हो पा रहा था। जिसके कारण भरण पोषण में समस्या उतपन्न होने लगी थी और जमालपुर में भी लंगर बंद हो जाने के ठीक 20- 25 दिन के बाद आज रोहित मांझी की मौत हो गई स्थानीय लोगों का कहना है कि ना ही सामाजिक स्तर पर और ना ही सरकारी स्तर पर इनके लिए कोई पहल किया गया जिसके कारण रोहित मांझी की मौत भूख से हो गई है रोहित मांझी के घर में राशन कार्ड होने की बात भी नही बतायी जा रही है जिसकी वजह से आज उसे मौत से जूझना पड़ा जिला प्रशासन के लिए इससे बड़ी बेहद शर्मनाक बात और क्या हो सकती है कि एक मजदूर परिवार का इकलौता कमाने वाला मालिक ही मर जाए तो उस घर का भरण पोषण कैसे होगा सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है।

बहरहाल प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर अशोक कुमार ने इस व्यक्ति की मौत भूख से नही बल्कि बीमारी से होने की कही गयी है बहरहाल प्रशासन के द्वारा मृतक के परिवार को 3 हजार रुपया कबीर अन्तेयस्टि के तहत जबकि परिवारिक लाभ के तहत 20 हजार रुपया उपलब्ध कराया गया है हालांकि मामला जिला प्रशासन के के संज्ञान में आने के बाद  रोहित माँझी की मौत भूख के कारण नहीं हुई है बताया गया प्रभारी पदाधिकारी डा अशोक कुमार सिंह के द्वारा मृतक का निरीक्षण किया गया बताया गया कि आँत अवरूद्ध होने एवं ससमय सही जगह पर ईलाज नहीं होने के कारण मृत्यु हुई है ! मृतक तीन दिन से बुखार से पीड़ित था !

आज स्थानीय स्तर से ईलाज भी कराया था ! मृतक स्वस्थ था और भूख से मृत्यु का कोई लक्षण नहीं था और इसके बारे में बताया गया है यह बीपीएल कार्ड धारी भी थे तथा बीस दिन पहले ही अनाज उठाने की भी बात कही गयी है । कार्यपालक पदाधिकारी ने अंत्येष्टि का सारा ख़र्च उठाने के लिए आर्थिक मदद भी दिया है । गणमान्य लोगों ने भी आर्थिक मदद मौके पर पहुंचाया है मृतक की पाँच लड़की है जिसमें एक विवाहित तथा एक लड़का है , तथा विधवा रह गई है।जो मानसिक रूप से बीमार है ।

What's Your Reaction?

like
1
dislike
0
love
1
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0